Vastu (वास्तु)

 

वास्तु शास्त्र मन्दिर, घर, भवन निर्माण हेतू प्राचीन भारतीय विज्ञान है, वास्तुशास्त्र में दिशाओं का काफी महत्व है।

उत्तर- इस दिशा के प्रतिनिधि देव धन के स्वामी कुबेर हैं। यह दिशा स्थायित्व व सुरक्षा का प्रतीक है।

उत्तर-पूर्व (ईशान कोण) – पूजन व मंदिर स्तापना हेतू यह दिशा सर्वोत्तम है।

उत्तर- पश्चिम (वायव्य कोण)- यह दिशा वायु देवता की है। इसलिए इस स्थान को भी शौचालय, स्टोर रूम, स्नान घर आदी के लिए उपयुक्त बताया गया है।

दक्षिण- यह दिशा मृत्यु के देवता यमराज की है। दक्षिण दिशा का संबंध हमारे पितरों से भी है। दक्षिण दिशा में बॉलकनी या बगीचे जैसे खुले स्थान नहीं होने चाहिएं।

दक्षिण-पूर्व (आग्नेय कोण)- इस दिशा के प्रतिनिध देव अग्नि हैं। यह दिशा ऊर्जा की दिशा है जो रसोईघर के लिए सर्वोत्तम होती है। सुबह के सूरज की पैराबैंगनी किरणों का प्रत्यक्ष प्रभाव पडने के कारण रसोईघर मक्खी-मच्छर आदी जीवाणुओं से मुक्त रहता है।

दक्षिण- पश्चिम (नैऋत्य कोण)- यह दिशा लक्ष्मी (धन की देवी) के लिए उत्तम है। इस दिशा में  आलमारी, तिजोरी या गृहस्वामी का शयन कक्ष बनाना चाहिए।

पूर्व- इस दिशा के प्रतिनिधि देवता सूर्य हैं। भवन के मुख्य दरवाजे इसी दिशा में कल्याणकारी मन गया है इसके पीछे का वैज्ञानिक तर्क यह है कि पूर्व से सूर्य की रोशनी भवन में पर्याप्त मात्रा में रहती है। सुबह के सूरज की पैरा बैंगनी किरणें वातावरण के सूक्ष्म जीवाणुओं को खत्म करके घर को ऊर्जावान बनाएं रखती हैं।

पश्चिम- यह दिशा जल के देवता वरुण की है। इस दिशा में शौचालय, बाथरूम, सीढियों अथवा स्टोर रूम का निर्माण किया जा सकता है।

वास्तु शास्त्र और पौधे

  • तुलसी (लक्ष्मी) का पौधा बेहद पवित्र शुभ एवं कल्याणकारी माना जाता है। इसे घर में अवश्य लगाना चाहिए।तुलसी का पौधा घर के ब्रह्म स्थल (मध्य भाग में) लगाना चाहिए।
  • तुलसी, केला, चंपा केतकी, चमेली, अशोक और नारियल पेड़ शुभ होते है।
  • केले के पेड़ में भगवान विष्णु का वास होता है इसे ईशान कोण में लगाने समृद्धि का प्रतीक है।साथ में तुलसी का पौधा लगाना से देवी लक्ष्मी की भी कृपा बनी रहती है।
  • घर के आंगन में अशोक और नारियल पेड़ शुभ होता है। अशोक वृक्ष घर के सदस्यों के बीच प्रेम और सौहार्द्र बढ़ाता है।
  • घर के बाहर खुशबूदार पौधे जैसे चमेली, बेला, रात रानी शुभ होते है।
  • घर में बांस का पौधा सुख व समृद्धि का प्रतीक होते हैं।
  • घर में मनी प्‍लांट लगाना बहुत ही शुभ होता है।